नहीं थमेगी रार, अखिलेश के ही नेतृत्व में लड़ा जाएगा विधानसभा चुनाव...

नहीं थमेगी रार, अखिलेश के ही नेतृत्व में लड़ा जाएगा विधानसभा चुनाव...

लखनऊ: देश के सबसे बड़े सियासी घराने में चल रही कलह अब दिन-ब-दिन और बढ़ती जा रही है। पार्टी पूरी तरह टूट चुकी है। पार्टी के दोनों गुट अपना-अपना प्रस्ताव लेकर चुनाव आयोग भी पहुँच चुके हैं। उत्तर प्रदेश सीएम अखिलेश यादव अभी बिलकुल भी ये नहीं चाहते कि मुलायम को राष्ट्रिय अध्यक्ष पद सौंपा जाये।अभी फिलहाल अखिलेश अध्यक्ष पद अपने ही पास रखना चाहते हैं जबकि 3 महीने बाद वह खुद-ब-खुद अध्यक्ष पद मुलायम को सौंप देंगे। 

इसे भी पढ़ें... सपा में मची कलह शांत कराने में जुटे आजम, बोले- किसी के भी सामने झुकने को तैयार...

बैठकों का चल रहा है दौर...

सुलह को लेकर कोशिशें जारी हैं। लगातार अखिलेश, मुलायम और शिवपाल और पार्टी के कई वरिष्ठ नेताओं के बीच मुलाक़ात जारी है। हालांकि पार्टी के राष्ट्रिय महासचिव और मुलायम के चचेरे भाई रामगोपाल यादव ये बात पहले ही साफ कर चुके हैं कि पार्टी में कोई सुलह नहीं होगी। अखिलेश यादव ही पार्टी के राष्ट्रिय अध्यक्ष हैं। अखिलेश के ही नाम पर उत्तर प्रदेश का विधानसभा चुनाव लड़ा जाएगा। पार्टी के चुनाव चिन्ह पर अंतिम फैसला चुनाव आयोग ही करेगा। गौरतलब है कि चुनाव आयोग ने दोनों पक्षों को जवाबदेही के लिए 9 जनवरी तक का समय दिया है।

इसे भी पढ़ें... केंद्र मंत्री उमा भारती का सपा पर हमला, कहा- सपा के भीतर मचा झगड़ा सिर्फ कुर्सी का है...

लड़ाई नहीं सुलह करवाने आया हूँ... 

वहीं गुरुवार को मुलायम के साथ लखनऊ पहुंचे अमर सिंह ने कहा है की मैं चाहता हूँ की मुलायम का सम्मान बना रहे और अखिलेश आगे बढ़ें। मैं लखनऊ किसी के बीच लड़ाई करवाने नहीं आया हूँ बल्कि सुलह करवाने आया हूँ। 



-विशेष संवादाता