अब चुनाव की भविष्यवाणी करना आपको पड़ सकता है भारी..पढ़े खबर

अब चुनाव की भविष्यवाणी करना आपको पड़ सकता है भारी..पढ़े खबर

लखनऊः- अगर आप ज्योतिषि जानते और चुनाव की भविष्यवाणी करते है, तो ये आपको बहुत भारी पड़ सकता है। दरअसल चुनाव आयोग ने मीडिया से निषिद्ध अवधि के दौरान चुनाव परिणामों को लेकर ज्योतिषियों, टैरो कार्ड रीडर, राजनीतिक विश्लेषकों तथा अन्य की भविष्यवाणी या अनुमानों  को प्रकाशित और प्रसारित करने से परहेज करने का निर्देश फिर से जारी करते हुए कहा है कि यह जनप्रतिनिधित्व कानून का उल्लंघन माना जाएगा। ऐसा करने पर उनकी खैर नहीं। 

आयोग ने प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया, दोनों से कहा कि वे भविष्य में स्वतंत्र, निष्पक्ष एवं पारदर्शी चुनाव सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबंध की अवधि के दौरान चुनावों की भविष्यवाणी से जुड़े कार्यक्रमों का प्रकाशन-प्रसारण नहीं करें. मीडिया संगठनों को भेजे गए एक परामर्श में आयोग ने जनप्रतिनिधित्व कानून की धारा 126-ए का जिक्र किया, जिसमें कहा गया है कि चुनाव आयोग की ओर से अधिसूचित की गई ऐसी अवधि के दौरान कोई व्यक्ति प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के जरिए कोई एग्जिट पोल नहीं करेगा और न ही इनके नतीजों को प्रकाशित-प्रसारित करेगा और न ही इसे किसी अन्य तरीके से वितरित करेगा.



-विशेष संवादाता