फ्री कराची कैंपेन की हुई शुरुआत, राष्ट्रपति ट्रंप से हो सकती है मुलाक़ात

फ्री कराची कैंपेन की हुई शुरुआत, राष्ट्रपति ट्रंप से हो सकती है मुलाक़ात

नई दिल्ली। पाकिस्तान किस तरह अपने ही नागरिकों पर अत्याचार करता है इसका एक और उदाहरण देखने को मिला है। मुहाजिरों ने अमेरिका में फ्री कराची कैम्पेन की शुरुआत की है। उनका कहना है कि उनके समुदाय पर सरकार द्वारा अत्याचार किया जा रहा है।

क्या कहना है संयोजक का...

इस बारे में मुताहिदा कवामी मूवमेंट के संयोजक नदीम नुसरत ने कहा कि, "हमारी मांग है कि कराची को इस्लामाबाद से बाहर किया जाये जिससे वहाँ की स्तानीय सरकार द्वारा किए जा रहे अत्याचार को रोका जा सके। कराची को सुरक्षाबालों से मुक्त किया जाये। हम कराची के निवासियों के लिए मानवाधिकारों की मांग करते हैं। उनका कहना है कि वे इस बारे में राष्ट्रपति ट्रंप से भी बात कर सकते हैं।

कौन है मुजाहिर...

मुजाहिर उन लोगों को कहा जाता है जो भारत और पाकिस्तान के बंटवारे के बाद 1947 में भारत को छोड़कर पाकिस्तान चले गए थे। इन लोगों में काफी संख्या में ज्यादातर लोग सिंध प्रांत में रहने लगे थे।