अगर आप रात में करते मोबाइल यूज तो हो जाएं सावधान..

अगर आप रात में करते मोबाइल यूज तो हो जाएं सावधान..

आजकल स्मार्टफोन लोगों की ज़िंदगी में इस कदर बस चुका है कि कोई भी अपने स्मार्टफोन से 5 मिनट से ज़्यादा दूर रह ही नहीं पता, लेकिन आज हम आपको बताएँगे कि कैसे आपका स्मार्टफोन आप की आँखों के लिए हानिकारक है। बता दें कि लगातार स्मार्टफोन का रात में यूज करने की वजह से कई लोगों में अंधेपन के लक्षण देखें गए हैं और दो महिलाएं तो पूरी तरह आंखों की रौशनी गंवा बैठी हैं। क्लिक करेः500 व 1000 के नोट के बिना भी SUNNY LEONE को ले जाएं अपने घर


'ट्रांजिएंट स्मार्टफोन ब्लाइंडनेस' के लक्षणः-

  • जर्नल में छपी रिपोर्ट के मुताबिक शुरुआत में इन महिलाओं को कुछ वक़्त के लिए दिखाई देना बंद हो जाता था।
  • महिलाओं के कई टेस्ट किए गए लेकिन ऐसा क्यों हो रहा है इसका पता नहीं चल पाया।
  • जब इन महिलाओं से पूछा गया कि ऐसा अक्सर कब होता है तो उन्होंने बाते कि रात में जब वो लेटकर स्मार्टफोन इस्तेमाल कर रहीं होती हैं तब ऐसा अक्सर होता है।
  • तो अगर आपको भी टेम्परेरी ब्लाइंडनेस का अनुभव हो रहा है तो ये संभल जाने का वक़्त है।

 

क्लिक करेःसेक्स और सेक्स और आपके इमोशन का राज खोलेगा आपका पसंदीदा रंग..आपके इमोशन का राज खोलेगा आपका पसंदीदा रंग..

एक आंख से न इस्तेमाल करें स्मार्टफोन--

  • रिपोर्ट के मुताबिक अंधेरे में फोन इस्तेमाल करते हुए आंख स्क्रीन की रोशनी के हिसाब से काम कर रही होती है।
  • लेकिन जैसे ही आप दूसरी आंख का इस्तेमाल करते हैं दोनों तारतम्य नहीं बिठा पातीं और ब्लाइंडनेस का अनुभव होता.

 

'ट्रांजिएंट स्मार्टफोन ब्लाइंडनेस'--

  • न्यू इंग्लैंड में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक एक महिला की उम्र 22 साल जबकि दूसरी की 40 साल है।
  • अंधेरे में स्मार्टफोन का इस्तेमाल करने से शुरुआत में इनमें अंधेपन के लक्षण देखे गए।
  • डॉक्टर्स के मना करने के बावजूद इन्होंने सावधानी नहीं बरती जिसके चलते अब ये पूरी तरह आंखों की रौशनी गंवा चुकीं हैं।
  • इस बीमारी का नाम 'ट्रांजिएंट स्मार्टफोन ब्लाइंडनेस' बताया जा रहा है।

 

क्लिक करेःजिओ का फ्री इंटरनेट चलाइए और कमाएं 30 हजार रुपए महीना , जानें कैसे..?