योगी राज में बंदी ही बंदी, स्लाटर हाउस के बाद अब इसकी बारी...

योगी राज में बंदी ही बंदी, स्लाटर हाउस के बाद अब इसकी बारी...

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में योगी सरकार आते ही बीजेपी ने वादे के अनुसार प्रदेश में अवैध बूचड़खाने बंद करने शुरू कर दिये हैं। योगी सरकार पूरी तरह से एक्शन में आ चुकी है। बीजेपी अपने संकल्प पत्र में किए वादों को निभाने में जुट गई है।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को लोकसभा में अपने आखिरी भाषण में सब साफ कर दिया। योगी ने सदन में कहा कि यूपी में अब बहुत सी चीजें बंद होने वाली है। आइये हम आपको बताते हैं कि योगी राज में यूपी में क्या क्या बंद होगा।

अवैध स्लाटर हाउस
योगी सरकार ने पहले ही दिन से यूपी में चल रहे अवैध स्लाटर हाउसों पर नकेल कसनी शुरू कर दी थी। वाराणसी लेकर लखीमपुर खीरी, गाजियाबाद और मेरठ जैसे तमाम शहरों में अवैध स्लाटर हाउस बंद कर दिए गए।

महिलाओं से छेड़छाड़ बंद
यूपी में महिला सुरक्षा को लेकर योगी आदित्यनाथ ने एंटी रोमियो स्क्वायड की शुरुआत कर दी है। मंगलवार को कई जगह कॉलेजों और सार्वजनिक स्थानों पर महिलाओं से छेड़खानी करने वाले मनचलों की धरपकड़ की गई।

दंगों पर लगेगी लगाम
 मंगलवार को सदन में अपने आखिरी भाषण में भी योगी ने सदन को आश्वस्त किया कि बीजेपी के शासनकाल में यूपी दंगा मुक्त प्रदेश बनेगा।

फर्जी मुकदमे
पीएम मोदी समेत बीजेपी के तमाम नेताओं ने यूपी के थानों को सपा का अड्डा बता दिया था। बीजेपी ने पूर्व सरकार के मंत्रियों व नेताओं पर यूपी के थानों में दलाली का आरोप लगाते हुए कहा था बेकसूरों के खिलाफ फर्जी मुकदमे दर्ज करने के आरोप भी लगे हैं।

बदहाल कानून व्यवस्था
यूपी में बदहाल कानून व्यवस्था बीजेपी का मुख्य मुद्दा रहा है। बीजेपी ने निवर्तमान अखिलेश सरकार पर गुंडागर्दी और अपराध पर लगाम कसने में नाकाम होने का मुद्दा जोर-शोर से उठाया। ध्यान रहे कि सीएम पद की शपथ लेने से पहले ही योगी ने डीजीपी के साथ मीटिंग की थी और शपथ ग्रहण समारोह में किसी भी प्रकार की हुड़दंग को रोकने के सख्त आदेश दिए थे।

शराब से मुक्त यूपी
बिहार की तर्ज पर योगी ने उत्तर प्रदेश को उत्तम प्रदेश बनाने का दावा किया है। गुजरात मॉडल को यूपी में लागू किया जा सकता है। अगर ऐसा होता है तो यूपी में भी योगी गुजरात और बिहार की तर्ज पर शराबबंदी लागू कर सकते हैं।

 



-विशेष संवादाता